क्या टाइप 2 डायबिटीज (शुगर) हमेशा के लिए ठीक हो सकता है?

क्या शुगर हमेशा के लिए ठीक हो सकता है?
Spread the love

क्या शुगर हमेशा के लिए ठीक हो सकता है?

यदि आप मधुमेह के साथ जी रहे हैं या आपका कोई प्रियजन लंबे समय से इस ‘शुगर-वार’ से जूझ रहा है, तो आप इस स्थिति के इलाज के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे होंगे। चिकित्सा विज्ञान में प्रगति और नवीन उपचार विधियों के उपलब्ध होने के बावजूद, टाइप 2 मधुमेह का कोई इलाज नहीं है, लेकिन उचित जीवनशैली प्रबंधन के साथ इसे रिवर्स* किया जा सकता है।

यदि आप एक वर्ष से अधिक समय तक दवा के बिना अपने HbA1c स्तर को प्रबंधित कर सकते हैं, तो माना जाता है कि आप पूरी तरह से ठीक हो गए हैं; यदि आप 5 वर्ष से अधिक समय तक ऐसा कर सकते हैं, तो आप लंबे समय तक छूट में हैं।

हालाँकि, आपकी छूट अवधि के दौरान भी, आपको हाई ब्लड शुगर, हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल, किडनी और आँखों  की समस्याओं के लिए परीक्षण की आवश्यकता होगी। यह एक सुरक्षा उपाय के रूप में किया जाता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि आपके लक्षण न जाएं और पुनरावृत्ति न हो। 

अच्छी खबर यह है कि हां, टाइप 2 मधुमेह को उलटा किया जा सकता है और व्यक्ति छूट में जा सकता है। हाँ, आपने सही पढ़ा – मधुमेह का उलटा होना संभव है

किसी के आहार की आदतों को संशोधित करने और जीवनशैली में कुछ सकारात्मक बदलाव लाने जैसे सरल कदम बड़ा बदलाव ला सकते हैं। ये चीजें थोड़ी सी मदद और पूर्ण समर्पण से हासिल की जा सकती हैं।

Diabetes Hindi Cta
डायबिटीज रेमिशन और मधुमेह का इलाज

“डायबिटीज रेमिशन और “मधुमेह का इलाज” दो शब्द हैं जिनका इस्तेमाल अक्सर मेडिकल कंडीशंस को बताने के लिए किया जाता है, जिनमें कैंसर, डायबिटीज और ऑटोइम्यून डिसऑर्डर जैसी क्रॉनिक बीमारियां शामिल हैं।

हालांकि, ये दोनों शब्द एक कंडीशन को मैनेज करने या उसका इलाज करने के लिए पॉजिटिव नतीजों को दर्शाते हैं, लेकिन इनके अलग-अलग मतलब होते हैं:

1. डायबिटीज रेमिशन

  • रेमिशन उस स्थिति को बताता है जिसमें किसी मेडिकल कंडीशन के लक्षण या लक्षण इस हद तक सुधर गए या गायब हो गए हैं कि वे अब उनका  क्लिनिकली पता लगाया नहीं जा सकता।  
  • यह आमतौर पर डायबिटीज, कैंसर जैसी पुरानी बीमारियों के बारे में इस्तेमाल किया जानेवाला शब्द है। 
  • रेमिशन का मतलब यह कतई नहीं है कि बीमारी पूरी तरह से खत्म हो गई या ठीक हो गई। इसके बजाय स्थिति नियंत्रण में है या अस्थायी रूप से सुधार हुआ है, यह मतलब है।
  • रेमिशन आंशिक रूप से या पूरी तरह हो सकता है । आंशिक रूप से रेमिशन का मतलब है कि बीमारी के कुछ लक्षण या मार्कर ज्यादा गंभीर नहीं रहते जबकि पूरी तरह  से रेमिशन से पता चलता है कि सभी लक्षण या मार्कर गायब हो गए हैं। 

2. मधुमेह का इलाज

  • तो दूसरी ओर इलाज का मतलब है कि शरीर से एक मेडिकल कंडीशन पूरी तरह से खत्म हो गई है।
  • इससे यह पता चलता है कि अब बीमारी का कोई नामोनिशान नहीं रहा है और व्यक्ति स्वस्थ और  रोग मुक्त हो जाता है । 
  • डायबिटीज या कैंसर जैसी कुछ पुरानी बीमारियों को क्युअर करना बेहद चुनौतीपूर्ण हो सकता है या करंट मेडिकल नाॅलेज और ट्रीटमेंट से मुश्किल भी हो सकता है। 

टाइप 2 डायबिटीज़ रिवर्सल क्या है?

डायबिटीज रिवर्सल का मतलब है कि दवाओं और इंजेक्शन की मदद के बिना अपने ब्लड शुगर और HbA1c लेवल (पिछले तीन महीनों का ब्लड शुगर रीडिंग) को नियंत्रित रखना। 

सही डाएट और एक्सरसाइज से इसे हासिल करना संभव है। आप अगर बिना किसी दवा के अपना HbA1c एक साल तक 6.4% के नीचे रख सकें, तो उस स्थिति में डाॅक्टर का मानना है, कि आप रेमिशन में हैं और आपने डायबिटीज को सफलता पूर्वक रिवर्स किया है। 

टाइप 2 डायबिटीज को कैसे रिवर्स कर सकते हैं?

डायबिटीज को रिवर्स करने के लिए ओरल मेडिकेशन या इंसुलिन पर निर्भर रहे बिना स्वस्थ रोजाना जीवन जीना और हाई शुगर लेवल के कारण मुश्किलों की संभावनाओं को कम करने का लक्ष्य होना चाहिए। 

जबकि गौर करने वाली बात है कि डायबिटीज को ठीक करना एक बार की प्रक्रिया नहीं है। आपको डायबिटीज को ठीक करने की कोशिश करते समय सिखाई गई सभी स्वस्थ आदतों को जीवनभर अपनाना होगा। 

चूॅंकि डायबिटीज का कोई इलाज नहीं है, इसलिए भले ही सुधार हो रहा हो, जीवनभर इस स्थिति का नियंत्रित करना जरूरी है। हेल्दी लाइफस्टाइल की आदतों को हटाने से दोबारा बीमारी की संभावना में तेजी से बढ़ोतरी हो सकती है।

उदाहरण के लिए, अगर आपका HbA1C लेवल 7% या उससे अधिक था और अब इसे 6.4% से कम कर लिया और इसे एक साल से अधिक समय तक नियंत्रित रखा तो इसे रेमिशन माना जाता है। 

हांलाकि, रेमिशन में भी अपने डॉक्टर द्वारा अपनी नियमित जांच करनी चाहिए। अगर आप एक या दो वर्ष के अंदर अपने लक्ष्य से भटक जाते हैं तो आपका  HbA1C लेवल वापस डायबिटीज रेंज में आ सकता है। डायबिटीज हमेशा के लिए रिवर्स न होने का यही कारण है, पर अपने ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखना जीवनभर प्रोसेस है। 

यहां पर कुछ चीजें बताई गई हैं जिन्हें आप कर सकते हैं:

टाइप 2 डायबिटीज को कैसे रिवर्स कर सकते हैं

1. हेल्दी डायबिटीज रिवर्सल डाएट प्लान (आहार) को अपनाएँ

हेल्दी बैलेंस खाना खाने की आदत डालें 

आपकी प्लेट में योग्य प्रकार के कार्ब्स के साथ प्रोटीन, फैट और फाइबर का होना निश्चित करें।

कार्बोहाइड्रेट को नियंत्रित करें 

अगर आप काफी लंबे समय से हाई कार्ब डाएट ले रहे हैं, तो अपने कार्ब सेवन में कटौती करना और अपने भोजन से अधिक पोषण प्राप्त करने के लिए अन्य पदार्थों के साथ अपनी प्लेट बैलेंस करना सही होगा। सिंपल से बेहतर काॅम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट को चुनें।

प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ के बजाय होल ग्रेन्स खाद्य पदार्थों को चुनें

सफेद चावल, सफेद आटा, व्हाइट ब्रेड और अन्य प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों के अलावा ब्राउन राइस, होल ग्रेन्स और ब्राउन ब्रेड, बाजरा, क्विओना, ओट्स चुनें।

याद रहे, डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए डाएट मैनेजमेंट का मतलब सिर्फ कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन और फैट्स का बैलेंस नहीं है। आपको सभी मॅक्रो और माइक्रो न्यूट्रिएंट्स को भी शामिल करने पर ध्यान देने की जरूरत है। 

जिंक, मैग्नीशियम, विटामिन C, आयरन, कैल्शियम की कमी से आपके ब्लड शुगर की रीडिंग में  उतार-चढ़ाव आ सकते हैं और आपके प्रमुख आतंरिक अंगों पर भी असर हो सकता है। 

आपके मुख्य भोजन में कार्बोहाइड्रेट का प्रमाण 45 से 50 ग्राम से अधिक नहीं होना चाहिए

यहां पर एक भोजन की थाली आदर्श कैसी होनी चाहिए, यह बताया गया है –

  • पकी हुई, स्टिम्ड या टाॅस्ड की हुई सब्जियां  आधी प्लेट हों।
  • प्लेट का एक चौथाई हिस्सा प्रोटीन के साथ – मीट, अंडे, फलियां 9(gumes), दाल, टोफू, काॅटेज चीज या पनीर
  • बाकी के एक चौथाई हिस्से में ब्राउन राइस, चपाती, बाजरा, दलिया आदि जैसे काॅम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट्स 

दिन में तीन बार मुख्य भोजन और तीन बार नाश्ता करें 

पूरे दिन अपने भोजन में अंतराल रखें ताकि भोजन के बीच सही अंतराल रहे- न बहुत ज्यादा या न बहुत कम।

जैसे कि सही ब्लड शुगर नियंत्रण के लिए आपको हर तीन से चार घंटे में कुछ-न-कुछ खाना चाहिए।   

बेशक, आपके पोस्टप्रेंडियाल (PP) ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने के लिए सही कार्ब्स और सही मात्रा में खाने के लिए कुछ प्लान बनाने की जरूरत होती है।  बिलकुल यहाँ आपको  विशेषज्ञ की मदद और सलाह मददगार हो सकती है।  

फिटरफ्लाई डाइबिटीज केयर प्रोग्राम में – हमारे न्यूट्रिशनिस्ट पैनल आपको अपने डाएट विकल्पों पर ध्यान देने और लाइफस्टाइल में बदलाव करने में मदद करता है जो आपकी भलाई पर सकारात्मक असर करते हैं। यह आपके डाएट में माइक्रो न्यूट्रिएंट्स के साथ ( सिर्फ कार्ब्स और फैट्स नहीं ) हर बात पर गौर करता है और जो आपके स्वास्थ के लिए हानिकारक हो सकती है ऐसी किसी भी प्रकार की कमी को ठीक करता  है।  

अपने डाएट में जरूरी न्यूट्रिएंट्स और माइक्रो न्यूट्रिएंट्स का शामिल होना बेहद जरूरी है क्योंकि इसकी कमी से इंसुलिन निर्माण , ग्लूकोज का इस्तेमाल, स्लीप साइकिल और ह्रदय स्वास्थ पर असर हो सकता है।  

2. सक्रिय रहें और थोड़ा-सा वजन कम करें

वजन कम करने से डायबिटीज नियंत्रण पर सकारात्मक असर होता है और डायबिटीज रिवर्स करने की संभावना कई गुना बढ़ सकती है।  रोजाना एक्सरसाइज और चर्बी घटाने से इंसुलिन सेंसिविटी में सुधार हो सकता है और आपके ब्लड शुगर को कम करने में मदद मिल सकती है।  

अगर आप दवा ले रहें हैं तो अतिरिक्त समय एक्सरसाइज आपको दवा बंद करने और डायबिटीज रिवर्स करने की संभावना सुधारने में मदद कर सकता है।  

अगर आपकी सुस्त जीवनशैली है और एक्सरसाइज नहीं कर पाते हैं, तो हम आपकी की स्थिति को समझ सकते हैं। टाइप 2 से ग्रसित ज्यादातर लोगों को एक्सरसाइज करना कठिन लगता है।  

सबसे आसान बात यह कि- अपने पास की किराने की दुकान तक या अपने बच्चों को बस स्टॉप तक छोड़ने के लिए कार के बजाय पैदल जाएँ। थोड़ी देर टहलें, पर टहलने या चहलकदमी से आपको डायबिटीज ठीक करने में मदद नहीं मिलेगी। आपको कुछ अधिक मेहनत करनी होगी – जिसमें रोजाना टहलने के साथ स्ट्रेंथ ट्रेनिंग और आपके चुनिंदार एक्सरसाइज शामिल हैं। 

3. अपने HbA1c या A1c स्तरों पर नज़र रखें

A1c परीक्षण आपको कुछ महीनों (तीन महीनों) कि आपकी औसत रक्त शर्करा रीडिंग देता है। चीनी आपके लाल रक्त कोशिकाओं में मौजूद हीमोग्लोबिन को बांधती है और HbA1c परीक्षण इस चीनी को मापता है ताकि यह स्पष्ट तस्वीर मिल सके कि आपका मधुमेह कितनी अच्छी तरह प्रबंधित है।

आदर्श रूप से, विशेषज्ञों का मानना ​​है कि आपका HbA1c स्तर 6.4% से कम होना यह दर्शाता है कि आपका मधुमेह अच्छी तरह से नियंत्रण में है और आप रिवर्सल की स्थिति में है।

यदि आप एक वर्ष से अधिक समय तक दवाओं के बिना स्तर को समान रखने में सक्षम हैं, तो डॉक्टर यह मान सकते हैं कि आप रेमिशन की स्थिति में है। यहां कुछ प्राकृतिक तरीके दिए गए हैं जिनसे आप अपने HbA1c के स्तर को कम कर सकते हैं।

4. शांत रहें और तनाव से दूर रहें

आपका ब्लड प्रेशर बढ़ाने और आपके ब्लड शुगर नियंत्रण की कोशिश में रूकावट डालने के लिए  दीर्घ तनाव और चिंता के लिए बहुत मशहूर हैं। साथ ही किसी के लिए भावुकता जैसे कि- अपराध बोध, दुख, निराशा, मायूसी और दवाओं के साथ ट्रैक पर रहना और स्वस्थ आदतों पर  टिके रहना कठिन बना देता है।  

स्ट्रेस और निराशा, मायूसी  के कारण निर्माण हुए हार्मोन वजन बढ़ाते हैं, इंसुलिन रेजिस्टेंस पैदा करते हैं और रक्तप्रवाह में ब्लड शुगर बढ़ाते रहते हैं। डायबिटीज को दूर करने के लिए अपने मानसिक स्वास्थ का ख्याल रखना भी बहुत जरूरी है।  

हम सभी जानते हैं कि जब आप प्रबल भावनाओं से घिरे रहते हैं तो उठना और बीस मिनट के लिए जॉगिंग करना आसान नहीं होता।  

5. एक बहु-विषयक दृष्टिकोण की तलाश करें

याद रखिए, अपना ब्लड शुगर कंट्रोल में लाना सिर्फ खाने और वजन कम करने के बारे में नहीं है। बहुत से फैक्टर्स हैं जो इसमें रोल प्ले कर सकते हैं, जैसे आपकी स्लीप साइकिल, स्ट्रेस लेवल, एंग्जाइटी, टाइम मैनेजमेंट और भी बहुत कुछ।

लाइफस्टाइल बदलने के लिए बस डाइट में फेरबदल या 30 मिनट की जॉगिंग से ज्यादा एफर्ट चाहिए। इसलिए फिटरफ्लाई डायबिटीज केयर प्रोग्राम में, एक्सपर्ट्स की एक टीम (जिसमें न्यूट्रिशनिस्ट, फिजियोथेरेपिस्ट और क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट शामिल हैं) आपके डॉक्टर के साथ मिलकर काम करती है। ये आपकी जरूरतों के हिसाब से एक प्लान बनाकर आपको अपने हेल्थ गोल्स अचीव करने में मदद करते हैं।

हर किसी के लिए क्या टाइप 2 डायबिटीज को रिवर्स करना संभव है? 

  1. कभी-कभी डाएट, एक्सरसाइज, वजन कम करने और स्ट्रेस नियंत्रण जैसे सभी उपाय करने के बावजूद, कुछ लोग अपने डायबिटीज को  रिवर्स करने या ठीक करने में सफल नहीं हो पाते।  
  2. रिसर्चर्स अभी भी पूरी तरह से नहीं जान पाए हैं कि ऐसा क्या है जो इसे कुछ लोगों के लिए काम करने योग्य बनाता है और दूसरों के लिए नहीं। जबकि कुछ पैरामीटर हैं जो यह तय करते में मदद कर सकते हैं कि क्या किसी के लिए डायबिटीज को रिवर्स करना संभव है।  
  3. अगर आप शुरुआती दौर पर हैं तो डायबिटीज रिवर्सल या रेमिशन की संभावना सबसे अधिक है।  
  4. हांलाकि, जैसे-जैसे स्थिति आगे बढ़ती है, शरीर धीरे-धीरे समय के साथ इंसुलिन बनाने की अपनी क्षमता खो सकता है और रिवर्सल सफल नहीं हो सकता। 

यह जानने के लिए कि क्या आप अपने डायबिटीज रिवर्स कर सकते हैं, हमारे फिटरफ्लाई डायबिटीज रिवर्सल कैलकुलेटर को आजमाएँ, जो डायबिटीज को रिवर्स करने की आपकी संभावना को समझ सकेगा।  स्कोर जितना ज्यादा होगा, डायबिटीज रिवर्सल की संभावना उतनी ही अधिक होगी।  

FitterTake

यदि आप एक वर्ष से अधिक समय तक दवा के बिना अपने HbA1C  लेवल को प्रबंधित कर सकते हैं, तो माना जाता है कि आप पूरी तरह से ठीक हो गए हैं; यदि आप 5 वर्ष से अधिक समय तक ऐसा कर सकते हैं, तो आप लंबे समय तक छूट में हैं।

हालाँकि, आपकी छूट अवधि के दौरान भी, आपको हाई ब्लड शुगर, हाई ब्लड प्रेशर , हाई कोलेस्ट्रॉल, किडनी  और आँखों की समस्याओं की जाँच की जरूरत होगी। यह एक सुरक्षा उपाय के रूप में किया जाता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि आपके लक्षण दोबारा न उभरें।

आप हमें 08069450746 एक मिस्ड कॉल देकर हमारे काउंसिलरों से भी बात कर सकते हैं और हम निश्चित रूप से आपसे संपर्क करेंगे। 

*डायबिटीज रेमिशन का क्लीनिकल शब्द डायबिटीज रिवर्सल है।

- By Fitterfly Health-Team
नीतीश प्रसाद | उम्र 40
सिर्फ 3 महीनों में
Diabetes REVERSE* किया !
आप भी कर सकते हैं.
HbA1c : 9.4% 5.8%
Weight loss : 76 kg 71 kg
Fitterfly Diabetes Prime Program
की जानकारी चाहिए?
Required
Invalid number
Invalid Email Id
*डायबिटीज रिवर्सल का
क्लीनिकल शब्द डायबिटीज रेमिशन है।