डायबिटीज से ग्रसित लोगों के लिए फुट केयर टिप्स

Footcare Tips For People with Diabetes
Spread the love

बरसात के मौसम में हम बिल्कुल बालगीतों के बूढ़े आदमी की तरह अक्सर नींद और आराम महसूस करते हैं। बारिश की अपनी एक अनूठी धुन होती है, जो शांत और सुकून भरी है। 

हाॅंलाकि, बरसाती मौसम हमारे इम्यून सिस्टम को प्रभावित कर सकता है और हमारे बीमार पड़ने की संभावना अधिक हो सकती है। अधिकतर लोग सर्दी से बचने के लिए ठोस कदम उठाते हैं, जबकि डायबिटीज से ग्रसित लोगों को बारिश के मौसम में अधिक सजग और ठोस उपाय करने की जरूरत होती है। 

डायबिटीज से ग्रसित लोगों के लिए अपने स्वास्थ्य को महत्व देना और स्वस्थ रहने के लिए खास देखभाल करना बेहद जरूरी है। 

बरसाती मौसम खास कर डायबिटीज से ग्रसित लोगों के लिए पैरों से संबंधित विशेष चुनौतियाॅं ला सकता है। चिपचिपे और बदबूदार पैर, फंगल इंफेक्शन, चोट और ठीक न होने वाले घावों का खतरा यह आम समस्याऍं हैं। 

इस मौसम में पैरों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए, पैरों की उचित देखभाल के तरीकों को अपनाना जरूरी है। 

इस लेख से हम पैरों को स्वस्थ बनाए रखने, पैरों की समस्याओं का नियंत्रण और डायबिटीज आपके पैरों और टाॅंगों को कैसे प्रभावित कर सकता है, इसे समझने की कोशिश करेंगे। 

Diabetes Hindi Cta

डायबिटीज आपके पैरों को कैसे प्रभावित करता है

डायबिटीज से ग्रसित लोगों में पैरों से संबंधित समस्याऍं बढ़ने का खतरा अधिक रहता है। यहाॅं कुछ बातें बताई गई हैं जिनसे डायबिटीज आपके पैरों को प्रभावित कर सकता है:

1. नर्व डैमेज (न्यूरोपैथी)

हाई ब्लड शुगर लेवल से नर्व डैमेज हो सकती हैं, जिससे पैरों और टाॅंगों में संवेदना, झुनझुनी या सुन्नता कम हो सकती है। इस न्यूरोपैथी नतीजे के कारण घाव नजरंदाज हो जाते हैं और उपचार न मिलने पर देरी हो सकती है। 

2. खराब ब्लड सर्कुलेशन या पेरिफेरल अर्टेरियल  डिसीज (PAD)

डायबिटीज ब्लड सर्कुलेशन को प्रभावित कर सकता है, खास कर आपके  निचले सिरे  में जो बाद में पेरिफेरल अर्टेरियल डिसीज में तब्दील हो सकता है, जिससे पैरों में ब्लड वेसल्स नैरो या ब्लॉक हो सकती हैं। 

कम ब्लड फ्लो उपचार को धीमा कर देता है, जिससे घावों को ठीक करना मुश्किल हो जाता है और इंफेक्शन, दर्द, ऐंठन, चलने में दिक्कत और इलाज न करने पर अल्सर और एम्पयूटेशन का खतरा बढ़ जाता है। 

3. फूट अल्सर और इंफेक्शन

सेंसेशन की कमी और ब्लड सर्कुलेशन में बिगाड़ के कारण डायबिटीज से ग्रसित लोगों में पैर के अल्सर संभावना अधिक बढ़ती है। इतना ही नहीं मामूली-सा कट या घाव भी अल्सर में बदल सकता है और इंफेक्शन हो सकता है, जिस पर तुरंत गौर करने और देखभाल करने की जरूरत होती है।

4. चारकोट फूट

चारकोट फूट एक और गंभीर समस्या है, जो पैर या टखने की हड्डी और जोड़ों की समस्या है। यह अक्सर नर्व डैमेज के कारण होता है जिससे हड्डियाॅं कमजोर हो जाती हैं और  इन्स्टेबल हो जाती हैं। आनेवाली मुश्किलों को रोकने के लिए समय पर उपचार और नियंत्रण बहुत जरूरी है। 

पैरों की देखभाल के लिए आवश्यक टिप्स

बरसाती मौसम में पैरों को स्वस्थ बनाऍं रखने और पैरों से संबंधित समस्याओं को कम करने के लिए इन सुझावों पर गौर करें: 

1.साफ और सूखे पैर

बाहर से घर आने पर अपने पैरों को पानी और साबुन से धोऍं। नमी जमा होने से रोकने के लिए, जिससे फंगल इंफेक्शन हो सकता है, अपने पैरों को खास कर ऊॅंगलियों के बीच, अच्छी तरह से सुखा लें।

2. एंटिफंगल पाउडर

एंटिफंगल पाउडर अपने पास रखें और फंगल ग्रोथ से निपटने और अपने पैरों को सूखा रखने के लिए जरूरत के अनुसार पाउडर का इस्तेमाल करें।

3. नाखून की देखभाल

चोट से बचने और इंफेक्शन के खतरे को कम करने के लिए नियमित रूप से अपने नाखूनों को सीधा काटें। काॅर्नर को न काटें क्योंकि इससे नाखून अंदर की ओर बढ़ सकते हैं।

4. तुरंत मेडिकल सहायता 

अगर आपको त्वचा पर कोई घाव, पैर में चोट या लगातार पैर की समस्याऍं दिखाई देती हैं, तो उसके निदान के लिए डर्मेटोलॉजिस्ट या पोडियाट्रिस्ट से सलाह लें।

5. ब्लड शुगर नियंत्रण

अपने ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखना पैरों के संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। अपने ब्लड शुगर लेवल की नियमित जाॅंच करें और अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर के गाइडलाइंस को अपनाऍं।

6. दैनिक पैरों का निरीक्षण

रेडनेस, सूजन, कट्स या छाले देखने के लिए अपने पैरों का निरीक्षण करने के लिए रोजाना समय निकालें। पैरों की समस्याओं का तुरंत पता लगाने से मुश्किलों को रोकने में मदद मिल सकती है।

7. सही जूतों का चयन

डिसकंफर्ट और शू बाइट से बचने के लिए बेहतरीन फिटिंग के, सही मटेरियल से बने, आरामदायक जूते चुनें। जूते आपको सपोर्ट दें और आपके पैरों का नमी से बचाव करें, इस बात पर गौर करें।

टिप: अपने पैरों को धोने के बाद अच्छे-से सुखा लें और त्वचा को सुखाने के लिए टैल्कम पाउडर या एंटीफंगल पाउडर का इस्तेमाल करें। 

FitterTake

डायबिटीज से ग्रसित लोगों को बरसाती मौसम में अपने पैरों का स्वास्थ्य बनाए रखना बहुत जरूरी है। फुट केयर टिप्स को अपनाकर, ब्लड शुगर लेवल की नियमित जाॅंच कर और तुरंत मेडिकल सहायता मिलने पर, आप पैरों से संबंधित मुश्किलों के खतरे को कम कर सकते हैं और बारिश के सुहावने मौसम का आनंद उठा सकते हैं। 

आपके डायबिटीज रिवर्सल सफर में मदद करने के लिए, फिटरफ्लाई डायबिटीज प्रोग्राम खास कर के मल्टीडिसिप्लिनरी पर्सनलाइज्ड नजरिए को अपनाकर डिजाइन किया गया है। यह डायबिटीज को ठीक करने के लिए एक न्यूट्रिशननिस्ट, एक फिजियोथैरेपिस्ट और एक साइकोलॉजिस्ट के साथ विशेषज्ञों की एक टीम से उपयोगी, प्रेक्टिकल और रिलाइबल सुझाव देता है। 

इसके अलावा आप अपने स्वास्थ्य के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फिटरफ्लाई वेलनेस ऐप का उपयोग कर सकते हैं।

Fitterfly के डायबिटीज केयर प्रोग्राम के बारे में अधिक जानने के लिए आप हमारे काउंसिलर  से से बात कर सकते हैं। 

अधिक जानने के लिए हमें 08069450746 पर काॅल करें।

- By Fitterfly Health-Team
आनंद जैन | उम्र 58
बिना दवाइयों के
Diabetes Reverse* किया !
आप भी कर सकते हैं.
HbA1c : 6.3% 5.4%
Weight loss : 76 kg 70 kg
Fitterfly Diabetes Prime Program
की जानकारी चाहिए?
Required
Invalid number
Invalid Email Id
*डायबिटीज रिवर्सल का
क्लीनिकल शब्द डायबिटीज रेमिशन है।