आपको हमेशा थकान महसूस होती है? शायद डायबिटीज कारण हो सकता है!

शुगर में थकान
Spread the love

लगातार थकान महसूस होने से आपकी काम करने की क्षमता से लेकर परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताने तक आपका जीवन काफी प्रभावित हो सकता है। आप अगर हमेशा थके-हारे रहते हैं, तो आपको इसके कारण का गहराई से पता लगाना चाहिए।

इसके पीछे डायबिटीज मेलिटस कारण भी हो सकता है।

डायबिटीज आपकी थकान के साथ किस प्रकार जुड़ा हुआ हो सकता है, आइए इसे जानें

Hindi Diabetes CTA

डायबिटीज को समझें

सबसे पहले हमें इस बात को जानना होगा कि डायबिटीज में क्या होता है?

डायबिटीज तब होता है जब आपके ब्लड में ग्लूकोज लेवल सामान्य से भी अधिक हो जाता है।

आपका शरीर या तो पर्याप्त इंसुलिन का निर्माण नहीं कर पाता या प्रभावी ढंग से इंसुलिन का इस्तेमाल नहीं कर पाता।

इंसुलिन बहुत जरूरी है क्योंकि एनर्जी के लिए ग्लूकोज को इस्तेमाल करने के लिए ब्लड सेल्स तक पहुँचाने में मदद करता है। पर्याप्त इंसुलिन के बिना ग्लूकोज आपके ब्लड में होता है जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है।

शुगर में थकान क्यों होती है?

1. आपकी एनर्जी समस्या

आपको जब डायबिटीज होता है, तब आपका शरीर भोजन को एनर्जी में बदलने का प्रयास करता है। इसके पीछे कारण यह है कि आपका शरीर या तो पर्याप्त इंसुलिन बना नहीं पाता या फिर उसका सही इस्तेमाल नहीं कर पाता।

इंसुलिन एक ऐसा हार्मोन है जो आपको एनर्जी देने के लिए भोजन से शुगर को ब्लड सेल्स तक पहुँचाने में मदद करता है। पर्याप्त इंसुलिन के सही तरीके से काम न करने पर शुगर आपके ब्लड में बनी रहती है और ब्लड सेल्स को वह एनर्जी नहीं मिल पाती जिसकी उन्हें ज्यादा जरूरत होती है।

आपके शरीर को काम करने के लिए ईंधन नहीं मिलता इसलिए आपको थकान महसूस हो सकती है।

2. अधिक चीनी, कम पानी

आपके ब्लड में ज्यादा शुगर होती है तब आपका शरीर एनर्जी के लिए शुगर के अलावा सैचुरेटेड फैट्स का इस्तेमाल करना शुरू कर सकता है। आपके शरीर के लिए जबकि यह बहुत चुनौतीपूर्ण क्रिया है इसलिए आपको अधिक थकान महसूस होती है।

इसके साथ-साथ इससे आपको अधिक पेशाब होने से अतिरिक्त शुगर से छुटकारा मिलता है। इससे आपके शरीर में पानी की बेहद कमी हो सकती है, जिससे आप डिहाइड्रेट हो सकते हैं और प्यास एवं थकान महसूस होती है।

3. डायबिटीज अन्य बातों से भी जुड़ा हुआ है

बेहद थकान महसूस होने के कारण ऐसा भी हो सकता है कि आपको डायबिटीज के साथ-साथ हाइपोथायरायडिज्म जैसी अन्य ऑटोइम्यून समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है।

हाइपोथायरायडिज्म तब होता है जब आपके शरीर में पर्याप्त थायराइड हार्मोन नहीं होते हैं, जिसके कारण थकान होती है।

आपके पास जब ये दोनों बातें हों तो आपको अधिक थकावट महसूस हो सकती है।

किसी व्यक्ति को खास उम्र में डायबिटीज होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है?

इसका सीधा उत्तर है नहीं!

पहले तो लगभग 35 वर्ष की उम्र को ब्लड शुगर लेवल की जाँच के लिए बेंचमार्क माना जाता था। आजकल हांलाकि, जेनेटिक्स, पर्यावण, स्ट्रेस और अस्वास्थ्यकर जीवनशैली के कारण टाइप 2 डायबिटीज के लिए उम्र की सीमा निश्चित करना कठिन हुआ है।

आपको डायबिटीज 20, 30 या 40 की उम्र में भी हो सकता है।

आपकी उम्र अगर 40 के आस-पास है और आपमें डायबिटीज के कोई लक्षण नजर नहीं आ रहें हैं या अपने अभी तक कोई टेस्ट नहीं करवाया है, तो भी देर नहीं हुई है। आपको तुरंत डायबिटीज की जाँच करानी चाहिए।

ठीक इसी तरह अगर आपकी उम्र 20-25 या 30 के आस-पास है पर आप हमेशा थकान महसूस करते हैं, आपके परिवार में डायबिटीज हिस्ट्री है और आप मोटापे से जूझ रहे हैं तो अपने ब्लड शुगर की जाँच कराना आपके लिए बहुत जरूरी है।

आपका डायबिटीज रिवर्स
हो सकता है क्या?

 

टाइप 2 डायबिटीज 35 की उम्र के आस-पास है तो यह आम बात है क्योंकि इनमें से कोई एक या एकाधिक इस उम्र के आस-पास शुरू हो सकता है:

  • इंसुलिन रेजिस्टेंस बढ़ जाता है
  • इंसुलिन सिक्रीशन (निर्माण) कम हो जाता है
  • शारीरिक गतिविधि की कमी के कारण वजन बढ़ जाता है

डायबिटीज की ओर इशारा करने वाले लक्षण और उन इशारों नजरअंदाज न होने दें (थकान के अलावा)

हमेशा थकावट महसूस होने के अलावा अन्य भी लक्षण हैं जो डायबिटीज की ओर इशारा कर सकते हैं, उनमें शामिल हैं:

1. अधिक प्यास लगना और पेशाब आना

आपके शरीर द्वारा एक्स्ट्रा शुगर को शरीर से बाहर निकालने की कोशिश डिहाइड्रेशन का कारण बन सकती है, जिससे आपको बार-बार प्यास लग सकती है।

2. अजीबोगरीब ढंग से वजन घटना

जब आपके शरीर को ग्लूकोज से एनर्जी नहीं मिल पाती तो फ्यूअल के लिए फैट और मांसपेशियों को जलाना शुरू देता है जिससे वजन कम होता है।

3. धुंधली नजर

हाई ब्लड शुगर लेवल के कारण आपके लेंस से तरल पदार्थ निकल सकता है जिससे आपकी क्षमता पर असर पड़ सकता है।

4. घाव या जख्म भरने में देरी

हाई ब्लड शुगर लेवल ब्लड सर्कुलेशन में बाधा ला सकता है और आपके शरीर की प्राकृतिक उपचार क्रिया को प्रभावित कर सकता है।

आपको अगर लगातार थकावट महसूस हो रही है तो आप क्या कर सकते हैं?

आपको यदि थकावट बार-बार महसूस हो रही है तो अपने डॉक्टर से सलाह लेना आवश्यक है। डॉक्टर आपको डायबिटीज के निदान के लिए कुछ खास टेस्ट करने की सलाह देंगे।

अगर आपको डायबिटीज का निदान हुआ तो आपकी स्थिति को नियंत्रित करने के लिए जीवनशैली में कुछ सुधार करने होंगे जिनमें शामिल हैं:

1. स्वस्थ भोजन

ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए सही भोजन करना बेहद जरूरी है, पर यह कठिन भी हो सकता है। फिटरफ्लाई में हमारे न्यूट्रिशन विशेषज्ञ मदद के लिए तैयार हैं।

हम आपकी पर्सनल ग्लाइसेमिक रिपोर्ट देखकर अलग-अलग खाद्य पदार्थ आपके ब्लड शुगर को कैसे प्रभावित करते हैं इसे देखते हैं। उसके बाद आपकी जरूरतों के अनुसार हम आपके डाएट को बेहतरीन ढंग से तैयार करते हैं।

हमें इस बात से बेहद खुशी होगी कि हम अपने साइंटिफिक तरीके से डायबिटीज और वजन घटाने के प्रोग्राम में आपकी मदद कर सकते हैं। बस हमें 08069450746 पर एक मिस्ड कॉल दें और हम आपको यह दिखा सकते हैं कि डायबिटीज और वजन घटाना कितना आसान हो सकता है।

2. रोजाना एक्सरसाइज

रोजाना एक्सरसाइज आपके शरीर को इंसुलिन को ज्यादा प्रभावी ढंग से इस्तेमाल करने में मदद करता है और ब्लड शुगर लेवल को कम करता है।

आप कोई भी एक्सरसाइज करें जो आपको पसंद हो- चलना,जॉगिंग, डांस, तैरना- कोई भी जो आपके शरीर को एक्सरसाइज हो जाए।

3. नींद और स्ट्रेस

नींद और स्ट्रेस आपके ब्लड शुगर लेवल को काफी प्रभावित करते हैं। रोजाना घंटे गहरी नींद लें।

अपने स्ट्रेस के कारन का पता लगाएँ और स्ट्रेस को कम करने की कोशिश करें। योग और ध्यान को भी आप आजमा सकते हैं।

4, अपने ब्लड शुगर की निगरानी करना

अपने ब्लड शुगर लेवल पर नजर रखने से आपको अपनी स्थिति को बेहतर तरीके से नियंत्रित रखने में मदद मिलेगी।

5. दवा

अगर जरूरत पड़े तो शुगर से आई कमजोरी की दवा लेने से डायबिटीज को नियंत्रित करने में मदद कर सकती है।

हमारा अपने पाठकों से नम्र निवेदन है कि वे लगातार महसूस होने वाली थकन को नजरअंदाज न करें- यह एक लंबे समय तक चलने वाली स्वास्थ्य समस्या हो सकती है।

तुरंत काम करने से आपके स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है और आप बेहतर महसूस करते हैं।

अगर डायबिटीज आपकी थकान का कारण बन रहा है, तो हम आपकी थकान से निपटने के लिए एक विस्तृत डायबिटीज नियंत्रण को पेश करते हैं। मदद के लिए हमें 08069450746 पर कॉल करें।

6 महीने में HbA1c आधी हो गई

Vandana Jha
12.6% 6.6%
वंदना झा
उम्र 39
Happy members
25000+
Happy members
No Cost EMI
No Cost
EMI
Moneyback Guarantee
Moneyback
Guarantee
Rated 4.8/5
Rated 4.8/5
4.8/5
आप भी करें Join
Fitterfly's
Diabetes Prime Program
Required
Required
* Diabetes Remission is the clinical term for Diabtes Reversal

FAQ - Frequently Asked Questions

थकान का डायबिटीज से क्या संबंध है?

डायबिटीज के साथ थकान को डायबिटीज फटीग के नाम से भी जाना जाता है, ग्लूकोज के इस्तेमाल में कमी या पर्याप्त इंसुलिन न बनने के कारण ग्लूकोज को आसानी से एनर्जी में बदलने में शरीर नाकाम होने से थकान होती है।

डायबिटीज के कारण थकान क्यों होती है?

एनर्जी के लिए ग्लूकोज का सही ढंग से इस्तेमाल करने में शरीर के लगातार कोशिश करने के कारण डायबिटीज और थकान हमेशा एक साथ आ जाती है। पर्याप्त इंसुलिन के बिना, ब्लड सेल्स में जरूरी ईंधन की कमी के कारण डायबिटीज थकान हो जाती है।

डायबिटीज में अन्य कौन-सी बीमारियाँ थकान को बढ़ावा दे सकती हैं?

डायबिटीज के अलावा हाइपोथायरायडिज्म, स्लीप एपनिया, एनीमिया, अवसाद और चिंता, क्रोनिक किडनी रोग, पेरिफेरल न्यूरोपैथी, हृदय रोग और क्रोनिक दर्द जैसी अन्य स्थितियाँ भी हैं, जिससे थकान को बढ़ावा मिल सकता है। डायबिटीज के साथ होने से ये स्थितियाँ थकावट और कमजोरी को बढ़ा सकते हैं।

थकान के अलावा डायबिटीज के अन्य लक्षण क्या हैं?

थकान के अलावा डायबिटीज के लक्षणों में प्यास और पेशाब में बढ़ोतरी,बेवजह वजन कम होना, धुंधली नजर और घाव याजख्म जल्दी न भरना भी शामिल हो सकते हैं।

डायबिटीज से जुड़ी थकान को मैं कैसे नियंत्रित कर सकता हूँ?

डायबिटीज से जुड़ी थकान को नियंत्रित करने के लिए सही न्यूट्रिएंट्स, रोजाना एक्सरसाइज, पर्याप्त नींद, स्ट्रेस मैनेजमेंट, ब्लड शुगर लेवल की निगरानी और हेल्थ केयर प्रोवाइडर्स द्वारा बताई गई दवाइयाँ अपनाकर स्वस्थ्य जीवनशैली बनाए रखें।

फिटरफ्लाई डायबिटीज मैनजमेंट और थकान में कैसे मदद कर सकता है?

फिटरफ्लाई न्यूट्रिशनल गाइडेंस और आपकी जीवनशैली के बीच में आकर डायबिटीज और वजन घटने के लिए व्यक्तिगत मार्गदर्शन के साथ ग्लाइसेमिक रिपोर्ट और साइंटिफिक प्रोग्राम पेश करता है। हमें 08069450746 पर मदद के लिए संपर्क जरूर करें।

- By Fitterfly Health-Team